Sunday, 16 October 2016

Chant these Mantra for cure disease


इन मंत्रों के जाप से लाइलाज बीमारियां होंगी दूर, घर में भी आएगी सम्‍पन्‍नता

असाध्य व गम्भीर व्याधियों से ग्रस्त व्यक्ति मृत्यु पर विजय प्राप्त करने व असामयिक निधन से बचाव के लिए मृत्युंजय मंत्र का जप व होम काफी लाभकारी माना गया है। तंत्रशास्त्र में मृत्युंजय मंत्र और गायत्री मंत्र के योग से बना यह मंत्र मृत संजीवनी के नाम से जाना जाता है, जिसका कार्तिक मास में जप व होम करने से बड़ी से बड़ी बीमारियों से भी मुक्ति पाई जा सकती है-

ओम हौं जूं स: ओम भूर्भूव: स्व: ओम तत्सवितुर्वरेण्यं त्र्यम्बकं यजामहे भर्गो देवस्य धीमहि सुगंधिं पुष्टिवर्धन्म् धियो यो न: प्रचोदयात्। उर्वारूकमिव बंधनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात ओम स्व: भुव: भू: ओम स: जूं हौ ओम ।

इस मंत्र के जप से असाध्य रोग कैंसर, क्षय, टाइफाइड हेपिटाइटिस बी, गुर्दे पक्षाघात, ब्रेन ट्यूमर जैसी बीमारियों को दूर करने में भी मदद मिलती है।
इस मंत्र का प्रतिदिन विशेषकर सोमवार को 101 जप करने से सामान्य व्याधियों के साथ ही मानसिक रोग, डिप्रेशन व तनाव आदि दूर किए जा सकते हैं।
तेज बुखार से शांति पाने के लिये औंगा की समिधाओं द्वारा पकाई गई दूध की खीर से हवन करवाना चाहिए।
मृत्युभय व अकाल मृत्यु निवारण के लिए हवन में दही का प्रयोग करना चाहिए। इतना ही नहीं मृत्युंजय जप व हवन से शनि की साढ़ेसाती, वैधत्य दोष, नाड़ी शेष, राजदंड, अवसादग्रस्त मानसिक स्थिति, चिंता व चिंता से उपजी व्यथा को कम किया जा सकता है।
सवा लाख जप हैं प्रभावकारी
भयंकर बीमारियों के लिए मृत्युंजय मंत्र के सवा लाख जप व उसका दशमांश का हवन करवाना उत्तम है। प्राय: हवन के समय अग्निवास, ब्रह्मचर्य पालन, सात्विक भोजन व विचार, शिव पर पूर्ण श्रद्धा व भक्तिभाव पर विशेष ध्यान रखना चाहिए। जप के बाद बटुक भैरव स्त्रोत का पाठ व इस दौरान घी का दीपक प्रज्जवलित रखना चाहिए। जप के साथ हवन व तर्पण और मार्जन के साथ ही साथ हवन की समाप्ति में ब्राह्मणों को भोजन करवाकर दान देना उत्तम माना गया है।

.........

पाक को बड़ा झटका – चीन ने मिलाया मोदी से हाथ, अब भारत की कराएगा NSG में एंट्री…

बेनॉलिम (गोवा)।

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से पहले शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने यहां एक बैठक के बाद आतंकवाद को ‘महत्वपूर्ण मुद्दे’ के रूप में चिह्न्ति किया। बीजिंग ने हालांकि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के आतंकवादी मसूद अजहर पर पाबंदी लगाने के भारत के प्रयास का समर्थन करने का कोई आश्वासन नहीं दिया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने संवाददाताओं से कहा, “दोनों देशों ने आतंकवाद को एक महत्वपूर्ण मुद्दे के रूप में चिह्न्ति किया। राष्ट्रपति शी ने कहा कि हमें सुरक्षा पर बातचीत व साझेदारी बढ़ानी चाहिए।”

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की बैठक में NSG पर हुई बातचीत

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने विकास स्वरूप ने बताया कि भारत और चीन दोनों ने आतंकवाद को एक महत्वपूर्ण मुद्दा माना है। पीएम मोदी ने कहा कि आज कोई भी देश आतंकवाद के खतरे से बचा नहीं है। वहीं चीनी राष्ट्रपति राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और चीन को आतंकवाद रोधी कदमों को और मजबूत करना होगा। चीन के साथ एनएसजी के मुद्दे पर भी बातचीत हुई। आतंकी मसूद अजहर के मसले पर विकास स्वरूप ने कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत जारी रहेगी।

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से ठीक पहले द्विपक्षीय संबंधों तथा इसके आयामों की समीक्षा करने के लिए मोदी व शी जिनपिंग ने यहां एक बीच रिसॉर्ट में मुलाकात की। स्वरूप ने कहा, “मोदी ने कहा कि भारत तथा चीन दोनों ही आतंकवाद से पीड़ित रहे हैं, जिस कारण पूरा क्षेत्र संकट में है।” उन्होंने कहा कि शी ने इस बात को रेखांकित किया कि आतंकवाद तथा हिंसक अतिवाद बढ़ रहा है, साथ ही उन्होंने इस्लामिक स्टेट आतंकवादी संगठन के खतरे की ओर भी इशारा किया।

संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर पर भारत के पाबंदी के प्रयासों पर चीन द्वारा अड़ंगा लगाने के बारे में पूछे जाने पर स्वरूप ने कहा कि यह चीन पर निर्भर करता है कि वह इसपर विचार करे, जिससे न सिर्फ क्षेत्र, बल्कि पूरी दुनिया की आतंकवाद से सुरक्षा होगी।प्रवक्ता ने कहा कि मोदी तथा शी ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत के शामिल होने की संभावनाओं पर संक्षिप्त चर्चा की। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम एनएसजी की सदस्यता पाने के लिए चीन के साथ काम करने के लिए तत्पर हैं।”

स्वरूप ने कहा कि इस मुद्दे पर वार्ता का एक दौर पहले ही पूरा हो चुका है और दूसरा जल्द ही होगा। इसके अलावा, दोनों नेताओं ने बढ़ती उच्चस्तरीय यात्राओं पर संतुष्टि जताई। मोदी व शी ने इस बात से सहमति जताई कि द्विपक्षीय निवेश तथा आर्थिक सहयोग बढ़ा है। स्वरूप ने कहा कि चीनी कंपनियों को भारत में निवेश करने के लिए उत्साहित किया जा रहा है। मोदी ने ब्रिक्स में चीन के योगदान की प्रशंसा की और कहा कि ब्रिक्स राष्ट्रों का न्यू डेवलपमेंट बैंक सदस्य राष्ट्रों की साझेदारी का प्रतीक है।

....Jai Hind

Thursday, 13 October 2016

JNU में दशहरा के दिन जला मोदी का पुतला, पीएम के अपमान को लेकर सियासी संग्राम शुरू.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दशहरा के मौके पर रावण की जगह पीएम मोदी का पुतला जलता नजर आ रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह घटना जेएनयू की है। इस घटना के बाद विवाद बढ़ता जा रहा है। छात्र संगठन ने जेएनयू विंग को कारण बताओ नोटिस जारी करने का फैसला लिया है। भाजपा ने इस घटना को लेकर अपना रोष जता दिया है।

जेएनयू के उपकुलपति जगदेश ने जांच के आदेश, भाजपा कर रही केस दर्ज करने की मांग

रिपोर्टों के अनुसार, कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कुछ और लोगों का चेहरा मिलाकर एक पुतले का दहन किया है। पीएम के साथ 9 चेहरे लगाकर पुतले का दहन किया गया है। इसमें अमित शाह, बाबा रामदेव, नाथूराम गोडसे, जेएनयू के वीसी के चेहरे भी लगाए गए हैं। जेएनयू परिसर में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने साबरमती ढाबे के पास पुतले का दहन किया। एनएसयूआई का कहना है कि हमने रावण नहीं बल्कि पीएम मोदी का पुतला जलाया।

जेएनयू के उपकुलपति जगदेश कुमार ने कहा है कि पुतला जलाने के मामले को संज्ञान में लिया गया है। इस मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस बारे में सभी पहलुओं की जांच की जा रही है। जेएनयू में मोदी के जलाये गये पुतले का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो के वायरल होने के साथ ही यह मामला तूल पकड़ने लगा है। कांग्रेस ने सवालिया लहजे में कहा कि क्‍या कभी किसी का पुतला नहीं फूंका गया है।

इस मामले को लेकर सियासी घमासान भी मच गया है। बीजेपी ने मांग की है कि सोनिया गांधी इसके लिए माफी मांगे। इसके साथ ही बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने केस दर्ज करने की मांग की है। इस बीच कांग्रेस की ओर से मामले में सफाई भी दी जा रही है।
,,,,,,,,,,,,, ,जयहिंद

Saturday, 8 October 2016

मोटापे का काल है जीरा और निम्बू का ये प्रयोग।

मोटापे का काल है जीरा और निम्बू का ये प्रयोग।

जो लोग मोटापे से परेशान हैं और मोटापे को दूर करने के लिए अनेक तरह के प्रयोग और पैसे बर्बाद कर के थक चुके हैं तो हम बता दें के ये प्रयोग मोटापे के लिए काल साबित होगा। आप अपने रिजल्ट लेखक के साथ ज़रूर शेयर करें।

बिलकुल साधारण सा दिखने वाला ये प्रयोग सिर्फ थोड़े से दिनों में अपना रिजल्ट आपको दिखा जायेगा। और बड़ी बात ये है के ये नुस्खा बिलकुल आसान है। आइये जाने।

हर शाम को एक चम्मच जीरा साफ़ पीने के पानी में भिगो कर रख दीजिये। सुबह खाली पेट ये जीरा चबा चबा कर खा लीजिये और इस बचे हुए पानी को चाय की तरह गर्म करें और इसमें आधा निम्बू निचोड़ कर इसमें एक चम्मच शहद मिला कर इस पेय के घूँट घूँट कर चाय की तरह पियें।

जीरा शरीर में हमारे द्वारा ग्रहण की गयी वसा को शरीर में अवशोषित नहीं होने देता। और गर्म पानी में निम्बू शरीर में जमी हुयी चर्बी को काटता है। इस कारण से प्रयोग मोटापे के लिए चमत्कार है।
और ध्यान रखें, इस प्रयोग के करते समय आप नाश्ता ना करें। नहीं तो मनचाहा रिजल्ट नहीं मिलेगा। सुबह ये पीने के बाद सीधे दोपहर का खाना खाएं। और खाने के पहले एक प्लेट सलाड खाएं। और भोजन में हरी सब्जियों का प्रयोग करें। और रात को भी सोने से 2-3 घंटे पहले भोजन कर लें।

दोपहर और रात के भोजन के तुरंत बाद एक गिलास गर्म पानी चाय की तरह आधा नीम्बू निचोड़ कर पीयें। भोजन के साथ ठंडा पानी बिलकुल नहीं पीना।
मैदे से बानी हुयी वस्तुओ से परहेज करें। मीठा और चीनी मोटापे में ज़हर के समान हैं। अनाज भी चोकर वाला (आटे को छानने से जो कचरा निकालते हैं वो चोकर होता है उसको मत निकाले) इस्तेमाल करें। फलों का जूस पीने की बजाय फल खाने चाहिए, इससे फाइबर भी मिल जाता है और जल्दी भूख नहीं लगती।
शीघ्र रिजल्ट पाने वाले व्यक्तियों को इसके साथ साथ में कुछ व्यायाम ज़रूर करना चाहिये। विशेषकर पश्चिमोत्तनासन, कपाल भाति और हो सके तो रनिंग या जॉगिंग ज़रूर करें।
आपको एक महीने में ही रिजल्ट मिल जायेगा।
,,,,,,,,,,,,,,,जयहिंद

डोभाल की इस रणनीति से भारतीय सेना ने आतंकवादियों को पाकिस्तान में घुसकर मारा !

[29-Sep-2016 ]

उरी हमले के बाद देश में गुस्सा इतना ज्यादा था कि लोग मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करने लगे थे l लोग मोदी पर सवाल उठाने लगे थे कि चुनाव के पहले तो बहुत बड़े-बड़े वादे कर रहे थे मोदी, तो अब क्या हुआ..?
फ़िलहाल इन सवालों से दूर मोदी इस हमले का जवाब देने के लिए अपनी रणनीति बनाने में लगे रहे, और पाकिस्तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग करने की योजना पर काम करते रहे l हुआ भी ऐसा, जहाँ पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन में भारत ने भाग लेने से इंकार कर दिया, वहीँ इस फैसले में भूटान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान जैसे देश भारत के साथ खड़े नजर आए जिसका नतीजा ये रहा कि पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन पर संकट के बादल छाने लगे है l एक तरीके से सार्क सम्मेलन रद्द ही है और इससे पाकिस्तान बिल्कुल अकेला खड़ा नजर आ रहा है l

इन सबके बाद भी देश को इंतजार था कि मोदी सरकार उरी हमले में शहीद हुए जवानों का बदला कब लेगी ? आखिर कब पाकिस्तान को भारत सबक सिखाएगा ? ये सवाल आग की तरह पूरे देश में गुस्से के रूप में फैलता ही जा रहा था कि बीती रात भारत-पाक सीमा पर भारतीय सेना ने पाकिस्तान की जमीं पर जाकर आतंकियों को ढेर कर दिया l

अमेरिका NSA ने डोभाल से कहा “घुसकर मारो आतंकियों को”

उरी हमले के बाद पूरी दुनिया की नजर भारत पाक के रिश्तों पर थी, कि भारत उरी हमले का जवाब कैसे और कब देगा! इन सबके बीच अमेरिकी नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर (NSA) सुसैन राइस ने अजीत डोभाल को फोन कर उड़ी हमले की निंदा करते हुए कहा “यूएन की ओर से जिन आतंकी संगठनों को बैन किया गया है भारत उनके खिलाफ एक्शन ले और उन्हें तबाह करे।” उन्होंने आगे कहा “अमेरिकी NSA ने कहा पाकिस्तान को भी चाहिए कि सयुंक्त राष्ट्र ने जिन आतंकी संगठनो को बैन किया है जैसे लश्कर-ए- तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद पर वो खुद भी कार्रवाही करे l”
हम आपको बता दें कि कुछ दिन पहले अमेरिका ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा था कि
“पाकिस्तान के पास अभी समय है उसे सुधर जाना चाहिए l” अमेरिका की तरफ से कहा गया था कि “पाकिस्तान मोदी के सयंम की परीक्षा ना ले, नही तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे l” इन सब को ज्यादा दिन नही हुए थे कि अमेरिकी NSA ने भारतीय NSA अजीत डोभाल को फोन करके आतंकवाद के खिलाफ एक्शन की बात की l
भारतीय NSA अजीत डोभाल की अगुवाई में पूरे ऑपरेशन की रणनीति बनाई गयी, उसके बाद पैरा कमांडो एलओसी के पार उतारे गए। जिसके बाद सेना के जवानों ने पाकिस्तान के 7 आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई करते हुए 38 आतंकियों को मार गिराया l इस पूरे ऑपरेशन के दौरान भारतीय NSA अजीत डोभाल दिल्ली से नजर बनाए हुए थे l

भारतीय सेना ने जवाब दिया तो पाकिस्तान भड़क गया:

उरी हमले का जब भारतीय सेना ने सख्ती से जवाब देना शुरू किया और पाकिस्तान की धरती पर चल रहे आतंकियो के कैम्प को तबाह करने लगे तो पाकिस्तान की बौखलाहट और आतंकियों के प्रति उसका प्रेम सामने आने लगा l इस हमले में मारे गये आतंकियों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा ‘हम इस हमले की निंदा करते हैं, शांति की हमारी चाहत को हमारी कमजोरी नहीं समझा जाना चाहिए और हम अपने देश की रक्षा के लिए तैयार हैं।’
पाकिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी देते हुए भारतीय डीजीएमओ ने बताया, ‘पाकिस्तान की ओर से भारत की जमीं पर हमेशा से घुसपैठ होती रही हैं। इस तरीके की 20 कोशिशें की गईं l भारत में आतंकवादी घुसपैठ में पाकिस्तान के हाथ होने के पुख्ता सबूत हैं भारत के पास। हमने कुछ आतंकियों को गिरफ्तार भी किया है और उन्होंने पाकिस्तान में ट्रेनिंग मिलने की बात भी कबूली है।’ इस कार्रवाही को देश के सभी नेताओं ने सराहा है और मोदी की तारीफ की है l
....... जयहिंद

Wednesday, 5 October 2016

Ayurveda drug for diabetes costs just Rs 5.

https://youtu.be/n2nNaLvI4Og

शुगर के मरीजों के लिए खुशखबरी है।

एनबीआरआई और सीएसआईआर ने डायबिटीज के मरीजों के लिए हर्बल दवा बीजीआर-34 लॉन्च की है।

वैसे तो मार्केट में डायबिटीज के लिए कई एलोपैथिक दवाएं मौजूद हैं, लेकिन पिछले डेढ़ साल के इंतजार के बाद ऐमिल फार्मास्यूटिकल्स की मदद से इस हर्बल दवा को मार्केट में उतारा गया है।

कंपनी का दावा है कि यह दवा जल्द ही सभी मेडिकल स्टोर में बिक्री के लिए मिलेगी।

एनबीआरआई ने लोगों को यह तोहफा रविवार को अपने एनुअल-डे पर दिया। इस दवा की कीमत पांच रुपये प्रति टैबलेट बताई गई है।

लिवर और किडनी का भी रखेगा ख्याल :
कार्यक्रम में ऐमिल फार्मास्यूटिकल्स के जीएम राकेश भारद्वाज ने बताया कि इस दवा की खास बात यह है कि ये डायबिटीज के साथ मरीज के लिवर और किडनी के फंक्शन को भी बेहतर करेगी। यह टाइप-टू के मरीजों के लिए है जिन्हें जन्म से शुगर नहीं होती है। ये दवाई डायबिटीज की समस्याओं को कम करेगी।

जल्द लांच होगा सिरप:
ये टैबलेट ब्लड सर्कुलेशन में मौजूद ग्लूकोज की मात्रा को नार्मल करने में रामबाण साबित होगी। इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। फिलहाल अभी इसे टैबलेट फॉर्म में लांच किया गया है लेकिन जल्द ही इसका सिरप भी लांच किया जाएगा।...

https://youtu.be/n2nNaLvI4Og

Tuesday, 4 October 2016

*કેનેડા સ્થિત પાકિસ્તાની* *લેખક તારિક ફતેહે એ.બી.પી. ન્યૂઝ પર આપેલા નિવેદનના મુખ્ય મુદ્દા:*

1. કાશ્મીરી પંડિતોને પોતાની જ માતૃભૂમિ પર રહેંસી નાખવામાં આવ્યા અને ત્યાં થી ખદેડી મૂક્યા તો પણ  તમે હિન્દુ ઓ એમને એમના વતનમાં વસાવી ન શક્યા, અને તમે બિનસાંપ્રદાયિકતાની વાતો કરો છો. .!

2. આતંકવાદ માટે પાકિસ્તાન જવાબદાર છે. 5 પાકિસ્તાની આવી ને તમારા દેશમાં બૉમ્બ બ્લાસ્ટ કરી જાય છે ..!!
અને તમે ટોલરન્સની ચર્ચા કરી રહ્યા છો..!

3. મસ્જિદોમાં એ લોકો કાફિરોને મારી નાંખવાના  સામુહિક નારા લગાવે છે અને તમે હિન્દુઓ લઘુમતિના અધિકારો વિશે વાતો કરો છો. .!!

4. કેરળ, હૈદરાબાદ, પશ્ચિમ બંગાળ, કાશ્મીરમાં એ લોકો પાકિસ્તાની ધ્વજ ફરકાવે છે....
અને તમે લોકો એમને ભારતીય મુસ્લિમો કહો છો. .!!

5. ભારત-પાકિસ્તાન વચ્ચે યુધ્ધ હોય કે ક્રિકેટ મેચ...
ભારત ના મુસ્લિમ કઈ બાજુ હોય છે તે બધા  જ જાણે છે...
તેમ છતાં પણ તમે એમને દેશભક્ત કહો છો. .!!

6. તસલીમા નસરીન અને અન્ય લેખકો સાથે હૈદરાબાદમાં મારપીટ કરવામાં આવેલી,
ઓવૈસી એ 100 કરોડ હિન્દુ ઓને મારી નાખવાની વાત કરેલી. ...
ત્યારે આ અસહિષ્ણુતા મુદ્દે કેમ કોઈએ એવોર્ડ પાછો નહોતો આપ્યો???

7. પાકિસ્તાન તમારા સૈનિકોની હત્યા કરે છે અને તમારા રાજનેતાઓ સંબંધો સુધારવા અને વેપાર વધારવા માટે પાકિસ્તાન ની મુલાકાતો લે છે...

તમારા હિન્દુ ઓમાં ઝમીર જેવુ કંઈ છે કે નહીં??
તમારો  ઉર્દૂ અને બિરયાનીનો મોહ ક્યારે છૂટશે?

8. તમારા હજારો મંદિર તોડી પાડવામાં આવ્યા, તમે કંઈ જ ન કરી શક્યા.
અને તમારા પોતાના જ દેશમાં, તમારા સાંસ્કૃતિક કેન્દ્ર એવા અયોધ્યા માં એક મંદિર બનાવવા તમે વર્ષોથી સંઘર્ષ કરી રહ્યા છો. .!!!
ત્યારે આપણા જ ભારત માથી મુસ્લિમોને હજ કરવા માટે સબસિડીની છુટ હતી અને અમરનાથ યાત્રામાં હિન્દુઓને ટેક્સ ભરવો પડતો હતો

9. 2002 હોય કે 1991, એ મુસ્લિમો દ્વારા આચરવામાં આવેલી હિંસાનુ રિએક્શન હતું.
જેહાદ અને ISIS માટેનુ મુસ્લિમોનુ વળગણ જગજાહેર છે. 
શું તમે એમ માનો છો કે ભારતીય મુસ્લિમો ISIS માં નથી જોડાતા? ?
ડેટા  તપાસી જુઓ.
બ્રિટન અને અન્ય દેશોમાં ગયેલા NRI હજારોની સંખ્યામાં જોડાઈ રહ્યા છે.

10. છેલ્લે, મારે એટલું જ કહેવું છે કે ઉપર આપેલા મુદ્દાઓ વિશે , કેનેડાથી આવેલો એક પાકિસ્તાની મુસ્લિમ તમને જગાડે  નહીં ત્યાં સુધી તમે નઘરોળની માફક ઊંઘતા રહો છો!!!

,,,,,,,,,,,, जयहिंद